वर्ण विच्छेद

किसी शब्द के निर्मित होने में जितने भी वर्ण सम्मिलित होते हैं उन सब को अलग अलग करना वर्ण विच्छेद कहलाता है| वर्ण विच्छेद करते समय हमें स्वरों की मात्रा को पहचानना पड़ता है और उस मात्रा के स्थान पर उस स्वर को प्रयोग में किया जाता है। इसमें हम शब्द के स्वर और व्यंजन को अलग- अलग करते है.

‘अ’ स्वर के कुछ उदाहरण

नमक = न् + अ + म् + अ + क‌् + अ
कथन = क् + अ + थ् + अ + न् + अ
कमल = क् +अ + म् + अ + ल् + अ

Disabling “Use Socket For PHP-FPM” did the trick.

‘आ’ स्वर के उदाहरण

बाजार = ब् + आ + ज् + आ + र् + अ
मामा = म् + आ + म् + आ
आज्ञा=आ + ज् + ञ् + आ

‘इ’ स्वर के उदाहरण

दिन = द् + इ + न् + अ
किला = क् + इ + ल् + आ
किसान = क् + इ + स् + आ + न् + अ

‘ई’ स्वर के उदाहरण

श्रीमान= श् + र् + ई+ म् + आ +न् +अ 
मीठा = म् + ई + ठ् + आ
पीला = प् + ई + ल् + आ

‘उ’ स्वर के उदाहरण

बुलबुल = ब् + उ + ल् + अ + ब् + उ + ल् + अ
चुनाव = च् + उ + न् + आ + व् + अ
गुलाब = ग् + उ + ल् + आ + ब् + अ

‘ऊ’ स्वर के उदाहरण

फूल = फ् + ऊ + ल् + अ
सूरज = स् + ऊ + र् + अ + ज् +अ
झूला = झ् + ऊ + ल् + आ

‘ऋ’ स्वर के उदाहरण

अमृत = अ + म् + ऋ + त् + अ
गृह = ग् + ऋ + ह् + अ 
नृत्य = न् + ऋ + त् + य् + अ

‘ए’ स्वर के उदाहरण

देश = द् + ए + श् + अ
ऐनक = ऐ + न् + अ + क् + अ
ठेला = ठ् + ए + ल् + आ

‘ऎ’ स्वर के उदाहरण

मैदान = म् + ऐ + द् + आ + न् + अ
शैतान = श् + ऐ + त् + आ + न् +अ
फैशन = फ् + ऐ + श् + अ + न्‌ + अ

‘ओ’ स्वर के उदाहरण

टोकरी = ट् + ओ + क् + अ + र् + ई
बोतल = ब् + ओ + त् + अ + ल् + अ
गोल = ग् + ओ + ल् + अ
ओखली =ओ + ख् + अ + ल् + ई

‘औ’ स्वर के उदाहरण

औरत = औ+ र् + अ + त् + अ
नौकर= न् + औ + क् + अ + र् +अ
मौजूद = म् + औ + ज् + ऊ + द् + अ

विद्यार्थी – व्+इ+द्+य्+आ+र्+ थ्+ई.

छात्र – छ्+आ+त्+र्+अ

विद्यालय – व् + इ + द् + य् + आ + ल् + अ + य् + अ

संपर्क – स् + अ + म + प् + अ + र् + क् + अ

वर्ण संयोजन

अलग-अलग वर्णों को मिलाकर शब्द बनाने की क्रिया को वर्ण संयोजन कहते हैं जैसे

  • क् + अ + क् +ष् + आ – कक्षा
  • ग्+उ+ल्+आ+ब्+अ – गुलाब
  • ग् + इ + र् + ई + श् + अ – गिरीश
  • प् + उ + स् + त् + अ + क् + अ – पुस्तक

Leave a Reply