ताश के पत्तों का मर्म

ताश के पत्तों का मर्म हम ताश खेलते है, अपना मनोरंजन करते है। पर शायद कुछ ही लोग जानते होंगे कि ताश का आधार वैज्ञानिक है व साथ साथ ही प्राकृति से भी जुड़ा हुआ है:- आयताकार मोंटे कागज़ से बने पत्ते चार प्रकार के …..ईंट, पान, चिड़ी, और हुक्म, प्रत्येक 13 पत्तों को मिलाकर […]

Read More

💐💐गर्द💐💐

💐💐गर्द💐💐 “बेटा!.गाड़ी साफ कर दूं?”रंजीत ने जैसे ही फ्यूल भरवाने के लिए अपनी कार पेट्रोल पंप पर रोका एक बुजुर्ग भागकर उसकी गाड़ी के करीब आया।“नहीं अंकल!.अभी थोड़ी जल्दी में हूँ।”यह कहते हुए रंजीत ने उस बुजुर्ग को टालना चाहा लेकिन वह बुजुर्ग उससे विनती करने लगा..“बेटा दस मिनट भी नहीं लगेंगे!.थोड़ा ठहर जाओ मैंने […]

Read More

💐💐अच्छे और बुरे लोगों की पहचान💐💐

💐💐अच्छे और बुरे लोगों की पहचान💐💐 बहुत समय पहले की बात है। नदी के तट पर एक गांव बसा था और उसी के नजदीक एक संत का आश्रम था। एक बार संत अपने शिष्यों के साथ नदी में स्नान कर रहे थे, तभी एक राहगीर वहां आया और संत से पूछने लगा, ‘‘महाराज, मैं परदेस […]

Read More

💐💐श्रद्धा और विश्वास💐💐

एक सेठ बड़ा धार्मिक था संपन्न भी था। एक बार उसने अपने घर पर पूजा पाठ रखी और पूरे शहर को न्यौता दिया। पूजा पाठ के लिए बनारस से एक विद्वान शास्त्री जी को बुलाया गया और खान पान की व्यवस्था के लिए शुद्ध घी के भोजन की व्यवस्था की गई। जिसके बनाने के लिए […]

Read More

💐💐संगत💐💐

एक भंवरे की मित्रता एक गोबरी (गोबर में रहने वाले) कीड़े से थी ! एक दिन कीड़े ने भंवरे से कहा- भाई तुम मेरे सबसे अच्छे मित्र हो, इसलिये मेरे यहाँ भोजन पर आओ!भंवरा भोजन खाने पहुँचा! बाद में भंवरा सोच में पड़ गया- कि मैंने बुरे का संग किया इसलिये मुझे गोबर खाना पड़ा! […]

Read More

एक राजा के पास एक व्यक्ति एक हीरा लाया और बोला- महाराज! मैं यह हीरा बेचना चाहता हूँ।

एक राजा के पास एक व्यक्ति एक हीरा लाया और बोला- महाराज! मैं यह हीरा बेचना चाहता हूँ। राजा ने मूल्य पूछा तो वह बोला- श्रीमान! आप जो दे देंगे। बस अन्याय न हो। हीरे का जितना मूल्य उचित हो उतना दे दें। राजा ने मन्त्रियों और जौहरियों से परामर्श किया, पर हीरे के सही […]

Read More

💐💐भगवान से मिलना💐💐

एक 6 साल का छोटा सा बच्चा अक्सर भगवान से मिलने की जिद किया करता था। उसे भगवान् के बारे में कुछ भी पता नहीं था, पर मिलने की तमन्ना, भरपूर थी। उसकी चाहत थी की एक समय की रोटी वो भगवान के साथ बैठकर खाये। एक दिन उसने एक थैले में 5,6 रोटियां रखीं […]

Read More

💐💐करनेवाला तो परमात्मा है💐💐

एक गृहस्थ भक्त अपनी जीविका का आधा भाग घर में दो दिन के खर्च के लिए पत्नी को देकर अपने गुरुदेव के पास गया । दो दिन बाद उसने अपने गुरुदेव को निवेदन किया के अभी मुझे घर जाना है। मैं धर्मपत्नी को दो ही दिन का घर खर्च दे पाया हूं । घर खर्च […]

Read More

मानव और दानव में अंतर: माँ हैं ममतामयी मूरत

🙏🏼तीन दिन से भूखे थे शेर दम्पत्तिमिल नही पाया था जंगल में कोई शिकारघने पेड़ की छांव में अधलेटे राजा – रानीनजर पड़ी एक जीव पर मिल गया आहार शेरनी ने मुंह उठाकर सूंघी उसकी गंधआवाज दिशा में दौड़ पड़ी लगाकर पूरा जोरगाय का नवजात बच्चा था अकेला खड़ामौत आती देखकर मां – मां चिल्लाया […]

Read More

💐💐मां का दायित्व💐💐

शहर के एक अन्तरराष्ट्रीय प्रसिद्धि के विद्यालय के बग़ीचे में तेज़ धूप और गर्मी की परवाह किये बिना, बड़ी लग्न से पेड़ – पौधों की काट छाँट में लगा था कि तभी विद्यालय के चपरासी की आवाज़ सुनाई दी, “गंगादास! तुझे प्रधानाचार्या जी तुरंत बुला रही हैं।” एक न सुनी और दुबारा विवाह करने से […]

Read More