Prem Rawat Quote

वास्तविकता क्या है और हमारे हृदय की आवश्यकता क्या है; उन्होंने इस विषय पर ध्यान केंद्रित करने का प्रोत्साहन दिया। संशय की प्रकृति पर चर्चा करते हुए उन्होंने बताया कि संशय कैसे चिंता और भय की ओर ले जाता है। उन्होंने व्यक्त किया कि हमें अपने हृदय को स्पष्ट रखना सीखना चाहिए अन्यथा संदेह होगा।

श्री प्रेम रावत जी ने स्वीकार किया कि जीवन हमेशा सरल नहीं होता है, किन्तु इस जीवन के लिए स्वयं को कृतज्ञता से भरना याद रखना चाहिए। जब तक हम जीवित हैं, तब तक सब कुछ ठीक है, और हम अपनी क्षमता पर भरोसा कर सकते हैं।

हमारा लक्ष्य : टेक्नोलॉजी और ऐसी चीजें जो हमें वास्तविकता से दूर ले जाती है, उन पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय हमें स्वयं के संपर्क में रहना चाहिए ।
श्री प्रेम रावत जी ने साझा किया कि “समय के चोर” के विरुद्ध सचेत होना ही एकमात्र सुरक्षा प्रणाली है क्योंकि जो समय वो हमसे चुरा लेता है – उससे हम दोबारा पा नहीं कर सकते।”



Leave a Reply