Modi’s wealth increased by Rs 87 lakh in ten years

Narendra Modi

मोदी की संपत्ति दस वर्षों में 87 लाख रुपये बढ़ी

वाराणसी, विशेष संवाददाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्र के साथ जो हलफनामा दाखिल किया है, उसके मुताबिक मोदी के पास न तो कार है और न ही कोई जमीन। उन्होंने 10 साल से कोई ज्वेलरी नहीं खरीदी। 10 वर्षों के दौरान उनकी पूरी सम्पत्ति 87 लाख रुपये बढ़ी है।

पहले चुनाव में 1.65 करोड़ रुपये संपत्ति बताई थी : मोदी ने कुल 3.02 करोड़ की संपत्ति बताई है। पांच साल में यह संपत्ति 87 लाख रुपये बढ़ी है। उनके पास 52 हजार 920 रुपये कैश है। वाराणसी में अपने पहले चुनाव (2014) में मोदी ने अपनी कुल संपत्ति 1.65 करोड़ रुपये बताई थी। 2019 में यह 2.15 करोड़ हो गई थी। मोदी ने अपने नामांकन पत्र में पत्नी के रूप में जशोदाबेन का नाम लिखा है लेकिन पत्नी की आय समेत दूसरी जानकारी नहीं दी है। मोदी जब 2002 में गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब उन्होंने अक्तूबर में एक जमीन खरीदी थी। इसमें वह तीसरे हिस्सेदार थे। बाद में उन्होंने अपना हिस्सा दान कर दिया था।

कोई म्यूचुअल फंड नहीं

सन-2014 और 2019 में नरेंद्र मोदी के पास सोने की चार अंगूठी थीं। इनका वजन 45 ग्राम है। पिछली बार इस गोल्ड की कीमत 1.13 लाख रुपये बताई गई थी। इस बार यह बढ़कर 2.67 लाख रुपये हो गई है। उनका शेयर या फिर म्यूचुअल फंड में कोई निवेश नहीं है। पोस्ट ऑफिस में 9.12 लाख रुपये के नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) हैं। 2019 के चुनावी हलफनामे के मुताबिक, नरेंद्र मोदी ने नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट में 7 लाख 61 हजार 466 रुपये जमा कराए थे। उनके पास 1 लाख 90 हजार 347 रुपये का जीवन बीमा भी था।

सरकारी वेतन और ब्याज ही आय का स्रोत

प्रधानमंत्री ने अपनी कमाई का जरिया सरकार से मिली तनख्वाह और बैंकों से मिलने वाले ब्याज को बताया है। इसके अलावा उनके पास कमाई का कोई साधन नहीं है।

सोशल मीडिया क्षेत्र में मजबूती

प्रधानमंत्री के सोशल मीडिया अकाउंट में खासा वृद्धि देखी गई है। वर्तमान चुनाव में उनके पास प्रमुख सोशल मीडिया मंचों के छह अकाउंट हैं। फेसबुक, ट्विटर (एक्स), यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम और ■ व्हाट्सअप चैनल भी है। 2014 में फेसबुक और ट्विटर अकाउंट ही था। 2019 में सोशल मीडिया अकाउंट की संख्या तीन हो गई थी।

Modi’s wealth increased by Rs 87 lakh in ten years

Varanasi, Special Correspondent. According to the affidavit filed by Prime Minister Narendra Modi along with his nomination papers for the Lok Sabha elections on Tuesday, Modi neither has a car nor any land. He has not bought any jewelery for 10 years. His total wealth has increased by Rs 87 lakh in 10 years.

In the first election, he had declared assets worth Rs 1.65 crore: Modi has declared total assets worth Rs 3.02 crore. This property has increased by Rs 87 lakh in five years. He has Rs 52 thousand 920 in cash. In his first election (2014) in Varanasi, Modi had declared his total assets as Rs 1.65 crore. In 2019 it increased to Rs 2.15 crore. Modi has mentioned Jashodaben’s name as his wife in his nomination papers but has not given any other information including his wife’s income. When Modi was the Chief Minister of Gujarat in 2002, he had purchased a land in October. He was the third partner in this. Later he donated his share.

no mutual fund

In 2014 and 2019, Narendra Modi had four gold rings. Their weight is 45 grams. Last time the price of this gold was said to be Rs 1.13 lakh. This time it has increased to Rs 2.67 lakh. He does not have any investment in shares or mutual funds. The post office has National Savings Certificates (NSC) worth Rs 9.12 lakh. According to the 2019 election affidavit, Narendra Modi had deposited Rs 7 lakh 61 thousand 466 in the National Savings Certificate. He also had life insurance worth Rs 1 lakh 90 thousand 347.

Government salary and interest are the source of income

The Prime Minister has stated that his source of income is the salary received from the government and the interest received from banks. Apart from this they have no means of earning.

Strength in social media sector

There has been a significant growth in the Prime Minister’s social media accounts. In the current election, he has six accounts on major social media platforms. There is also Facebook, Twitter (X), YouTube, Instagram and WhatsApp channels. In 2014, there were only Facebook and Twitter accounts. In 2019, the number of social media accounts increased to three.



Leave a Reply